रोग-प्रतिरोधक क्षमता क्या है, इसे कैसे बढ़ाए?

Methods to increase immunity

रोग प्रतिरोधक क्षमता का सीधा असर हमारे स्वास्थ्य पर पड़ता है। इसलिए हमें किसी भी तरह के पदार्थ का सेवन सोच समझ कर करना चाहिए, जिससे हमारे शरीर के हर हिस्से को सही तरह से देखभाल मिल सके। वैसे तो बाजार में ऐसे कई पदार्थ उपलब्ध है,जो आपकी इम्यूनिटी को बढ़ाने का दावा करते हैं, लेकिन आप सही दिनचर्या और सही खान-पान से ही प्राकृतिक रूप से इसे ठीक कर सकते हैं। तो आज हम इस पर चर्चा करेंगे की रोग प्रतिरोधक क्षमता क्या है और रोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़ाए |

  1. रोग प्रतिरोधक क्षमता क्या है
  2. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय क्या क्या है
  3. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के आसान तरीके
  4. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू नुस्खे

रोग प्रतिरोधक क्षमता क्या है

रोग प्रतिरोधक क्षमता का सीधा मतलब होता है कि किसी भी बीमारी से हमारे शरीर को जो कारक बचाते हैं उसे हम रोग प्रतिरोधक क्षमता कहते हैं। इससे हमारे शरीर में ढेरों फायदे होते हैं। यह हमें किसी भी तरह के छोटे से छोटे एवं बड़े से बड़े रोगों से लड़ने की क्षमता प्रदान करता है।

अगर आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता सही रहती है तो आप आसानी से 1 से 2 दिन में किसी भी बीमारी से तुरंत ठीक हो सकते हैं फिर चाहे वह मौसम बदलने के कारण जुकाम हो या किसी भी तरह की थकान हो। यह आप को अंदर से मजबूत बनाता है एवं आपके इम्यून सिस्टम को दुरुस्त रखता है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय क्या क्या है

1. हरी सब्जियां एवं फल के सेवन से बढ़ती है रोग प्रतिरोधक क्षमता

1. हरी सब्जियां एवं फल के सेवन से बढ़ती है रोग प्रतिरोधक क्षमता

हमारे शरीर की जरूरत के अनुसार हरी सब्जियां में पूर्ण रूप से विटामिन ए, बी और सी पाया जाता है, जो कि हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार साबित होता है।

इसके अलावा आपको बता दें कि यदि आप हरी सब्जियों के साथ-साथ फल का सेवन भी करते हैं तो यह एक एंटीऑक्सीडेंट गुण प्रदान करता है, जो हमें हर तरह की बीमारियों से बचाता है।

2. हल्दी से बढ़ाएं रोग प्रतिरोधक क्षमता

हल्दी एक ऐसा नुस्खा माना जाता है, जो सदियों से इस्तेमाल किया जा रहा है। इसलिए जब भी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की बात आती है तो हल्दी का नाम उसमें जरूर आता है। आपको बता दें कि हल्दी में कई ऐसे महत्वपूर्ण गुण पाए जाते हैं जो हमें कैंसर से लड़ने की क्षमता प्रदान करता है।

इसके साथ ही यह हमारे मेटाबॉलिज्म को नियंत्रित करने में भी काफी रूप से मददगार साबित होता है।

3. दही से बढ़ती है रोग प्रतिरोधक क्षमता

हम अभी तक यही जानते आ रहे हैं कि दूध के सेवन से हमारे शरीर को कई पोषक तत्व मिलते हैं और यह हमें बीमारियों से दूर रखता है, लेकिन आपको आज यह बता दे कि दही में दूध से ज्यादा कैल्शियम की मात्रा पाई जाती है, जो हमारे अंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है।

इसलिए हमें रोजाना दही का सेवन करने की सलाह दी जाती है ताकि यह हमें किसी भी बीमारी से बचा सके।

4. दालचीनी खाने रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए

दालचीनी भी उन पदार्थों में सम्मिलित हैं, जो हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में काफी रूप से मददगार साबित होता है। दालचीनी में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स गुण होते हैं जो हमारे शरीर में बैक्टीरिया को पनपने से रोकता है और हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

इसके अलावा हमारे शरीर के ब्लड शुगर और कोलेस्ट्रोल को भी सही तरह से नियंत्रित करता है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के आसान तरीके

1. भरपूर नींद लें

1. भरपूर नींद लें

2. हर रोज नियमित रूप से आठ से 10 गिलास पानी अवश्य पिएं

3. सर्दियों के मौसम में सूरज की किरणों के सामने तेल की मालिश करें

4. खट्टे फलों का सेवन ज्यादा से ज्यादा करें

5. यदि आप सर्दियों के मौसम में सूप पीते हैं तो इससे आपकी इम्युनिटी बढ़ती है और इसके अलावा आप सर्दी जुखाम से भी काफी दूर रहते हैं।

6. लहसुन में ऐसे एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। इसलिए हमें दो से तीन लहसुन का सेवन हर दिन करना चाहिए ।

7. जितना संभव हो सके उतना खुद को तनाव से दूर रखें।

8.स्वस्थ भोजन का सेवन करें। खासतौर पर टमाटर, फूलगोभी, पपीता, बादाम, दूध, दही, मशरूम, लौकी के बीज, पालक, चुकंदर के सेवन करने से हमारा स्वास्थ्य सही रहता है ।

9. कोशिश करें कि अपने आसपास के वातावरण को साफ-सुथरा रखें, क्योंकि जितना प्रदूषण होगा उतना ही आपके लिए रोग फैलने की संभावना बढ़ती है।

10. सभी तरह के पोषक तत्वों का सेवन करें एवं शरीर में अनावश्यक चर्बी को बिल्कुल भी बढ़ने ना दे।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपचार

1. अदरक

अदरक एक ऐसा घरेलू नुस्खा माना जाता है, जो काफी आसानी से हमारे शरीर के कई रोगों को ठीक करता है और हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ावा देता है।

उपयोग करने की विधि:-

  • दो कप पानी को गर्म करें
  • पानी गर्म होने के बाद उसमें अदरक को डालें

*इससे डालकर 3 मिनट तक अच्छे से उबलने दें, फिर इसे छानकर इसका सेवन करें।

2. हल्दी

आपको शायद यह पता नहीं होगा कि हल्दी में ऐसे तत्व पाया जाता है, जो हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और अनेकों फायदे पहुंचाता है।

उपयोग करने की विधि:-

  • एक कटोरी पानी लें और उसमें हल्दी को पूरी तरह भिगो दें।
  • इसे लगभग 3 से 4 घंटे तक पानी में ही रहने दे
  • इसे निकाल दे और इसका पेस्ट बनाकर उसमें शहद मिलाये।
  • इस विधि को हफ्ते में दो बार सेवन अवश्य करें।

3. सेब का सिरका

सेब का सिरका भी हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में काफी सहायक माना जाता है।यह पूरी तरह से हमारी इम्यूनिटी को बूस्ट करता है।

उपयोग करने की विधि:-

  • एक कटोरी मे सेव का सिरका डालें
  • फिर इसमें एक से दो लहसुन की कलियां को भिगोए
  • सेब के सिरके में लहसुन की कलियों को अच्छी तरह सूखने दें
  • इसका सेवन सप्ताह में एक से दो बार करें।

2 thoughts on “रोग-प्रतिरोधक क्षमता क्या है, इसे कैसे बढ़ाए?”

Leave a Comment